बात

दिल की बात जुबां पर न आये तो हीं सही है न कोई शिकवा होगी और ना हीं कोई शिकायत बात भी अपनी होगी और कोई तकलीफ भी होगी नंही बात के अधूरे रहने की। हम खुद से  हीं बातें कर खुश हो जाया करेंगे। सपना अपना है और ख़्याल भी अपने हैं, न तो … Continue reading बात

Advertisements